मंडी के छोटी काशी के मेहमान रहे देवी-देवता जातर के बाद वापस अपने गांव लौटेंगे

himachal pradesh mandi

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी में अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव छोटी काशी के मेहमान रहे देवी-देवता गुरुवार को बाबा भूतनाथ के प्रांगण चौहाटा की जातर के बाद वापस अपने गांव लौटेंगे,

इसी के साथ प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की चौहाटा की जातर में देवताओं का दरबार में उनके दर्शनों के लिए भीड़ उमड़ेगी।

चौहाटा की जातर में देवी-देवताओं का आर्शीवाद लेने व उन्हें विदाई देने के लिए जन सैलाब उमडे़गा

साथ ही बताया जा रहा है की हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी शिवरात्रि में आए देवता अपने परिजनों की तरह एक-दूसरे से मिलकर एक साल के लिए जुदा होंगे, साथ ही कहा जा रहा है की अगली साल फिर मिलेंगे, इस वादे के

साथ जनपद के देवी-देवता अपने-अपने धाम लौटेंगे, साथ ही चौहाटा की जातर में देवी-देवताओं का आर्शीवाद लेने व उन्हें विदाई देने के लिए जन सैलाब उमडे़गा।

देवी-देवताओं को विदा करने के लिए चौहटा की जातर में आएंगे

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के जिला मंडी जनपद के बड़ादेव कमरूनाग भी टारना मंदिर का अपना आसन छोड़ कर देवी-देवताओं को विदा करने के लिए

चौहटा की जातर में आएंगे, साथ ही कहा जा रहा है की बड़ा देव ने करीब 02 घंटे सेरी चानणी की पौडि़यों में अपना आसन जमाएंगे।

पहले उतरशाल के देव आदि ब्रह्मा मंडी शहर को सुरक्षा कवच से बांधेगे

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी के शिवरात्रि महोत्सव के आखिरी दिन समापन से पहले उतरशाल के देव आदि ब्रह्मा मंडी शहर को सुरक्षा कवच से बांधेगे, साथ ही कहा जा रहा है की यह परंपरा कई वर्षों से चली आ रही है,

जिसका शिवरात्रि के अंतिम दिन निर्वहन किया जाता है, साथ ही बताया जाता है कि रियासतकाल दौर में मंडी में कोई बीमारी फैल गई थी।

मंडी में अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव छोटी काशी के मेहमान रहे देवी-देवता गुरुवार घर लौटेंगे

इसी के साथ इसके बाद राजा ने सभी देवी-देवताओं से बीमारी का इलाज करने की गुहार लगाई गयी है, साथ ही यह सभी के मना करने के बाद देवता आदि ब्रह्मा मंडी शहर को सुरक्षा कवच से बांधेगे,

कहा जा रहा है की प्रदेश के जिला मंडी में अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव छोटी काशी के मेहमान रहे देवी-देवता गुरुवार घर लौटेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *