पिन घाटी में स्तिथ “कुंगरी मठ”, स्पीति घाटी में स्तिथ दूसरा सबसे पुराना गोम्पा, “Kungri Monastery” in Pin Valley, Himachal Pradesh, second oldest Gompa in Spiti Valley

kunga01

हिमाचल प्रदेश में बहुत से ऐतिहासिक और लोकप्रिय धार्मिक स्थल है, यहां बहुत से रोमांचित और धार्मिक स्थल है, जो देश-विदेश में अपनी लोकप्रियता के लिए जाने जाते है। हिमाचल प्रदेश में बहुत से बौद्ध धर्म से संबंदित धार्मिक स्थल है, जो बेहद आकर्षित और लोकप्रिय माने जाते है, बौद्ध धर्म का ज्यादा तर प्रभाव लाहौल स्पीति और किन्नौर में देखने को मिलता है। एक ऐसा यही स्थान है, स्पीति घाटी में जो कुंगरी मठ नाम से जाना जाता है, यह धार्मिक स्थान बेहद ऐतिहासिक है, यह स्पीति घाटी का दूसरा सबसे पुराना मठ है। जो लगभग 1330 ई के आसपास बना था।

kunga02

कुंगरी बौद्ध धर्म में प्रचलित तांत्रिक पंथ के अचूक प्रमाण प्रदान करता है, Kungri provides anecdotal evidence of the tantric cult practiced in Buddhism

स्पीति के कुंगरी गोम्पा ने हाल ही में अपने नवीनीकरण के लिए बड़े विदेशी दान प्राप्त करने के बाद बहुत से पर्टयकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। यह लोकप्रिय कुंगरी बौद्ध धर्म में प्रचलित तांत्रिक पंथ के अचूक प्रमाण प्रदान करता है। कुंगरी गोम्पा स्पीति में निंगमा-पा संप्रदाय का मुख्य केंद्र है। इस गोम्पा में पूर्व की ओर तीन खंडित आयताकार ब्लॉक हैं, जो बेहद आकर्षित और खूबसूरत है।

kunga03

एकमात्र मठ जो बौद्ध धर्म के निंगमापा क्रम का है

कुंगरी गोम्पा हिमाचल प्रदेश के पिन घाटी में 3 किमी की दूरी पर स्थित है। यह स्पीति के उप-विभागीय जिला मुख्यालय से लगभग 12 किमी की दुरी पर स्थित है, यहां आये पर्टयक पिन घाटी तक पहुंचने के लिए आश्चर्यजनक स्पीति नदी को पार करना पड़ता है, इस मठ को एकमात्र मठ होने का गौरव प्राप्त है, जो बौद्ध धर्म के निंगमापा क्रम का है। यह तिब्बती बौद्ध धर्म का सबसे पुराना आदेश भी है। यह अतीत से लेकर आज तक पिन घाटी में मौजूद तिब्बती परंपरा के मजबूत प्रभाव को दर्शाता है। जिस से यहां आये सैलानी इस की ओर आकर्षित होते है।

विभिन्न बौद्ध देवताओं के रेशम के अनोखे चित्रों को चित्रित किया गया है इस मठ में, Unique monasteries of various Buddhist deities are depicted in this monastery

कुंगरी मठ में आंतरिक दीवारों पर विभिन्न बौद्ध देवताओं के रेशम चित्रों को चित्रित किया है, और विशाल मूर्तियों और 300 से अधिक पवित्र तिब्बतियों के शोकेस किए हैं। इस मठ में ग्रंथों, केनजूर और तेनजूर को सफेद मलमल में सावधानी से संरक्षित किया गया है। यह लोकप्रिय मठ बौद्ध विद्वानों, तीर्थयात्रियों और दुनिया भर से आये पर्यटकों के लिए एक लोकप्रिय और खूबसूरत स्थान है। इस मठ का प्राथमिक उद्देश्य प्राचीन तिब्बती बौद्ध कला, संस्कृति और परंपरा के खजाने को प्रदर्शित करना है।

kunga04

कुंगरी मठ पहुंचने के साधन और समय, Means and times to reach Kungri Math

यह कुंगरी मठ धनकर मठ के करीब स्थित है, सैलानी यहां बस के माद्यम से पहुंच सकते है, पर्टयकों के लिए यहां की यात्रा करने का सही समय गर्मियों के दौरान का है, यह धार्मिक मठ बर्फीले रेगिस्तान में स्तिथ है, जो सर्दियों के दौरान बेहद ठण्डा होता है, इसके साथ ही सर्दियों के समय में यहां भारी मात्रा में बर्फबारी भी होती है। पर्टयकों के लिए यहां आने का सही समय मई से अक्टूबर के बिच का है। इस बिच आप कभी भी इस स्थान की यात्रा कर सकते है।

Recommended For You

About the Author: Salochna Devi