“कोमिक गाँव” एशिया का सबसे ऊँचा गांव एक लोकप्रिय पर्टयन स्थान, The “Komik Village” in Himachal Pradesh is Asia’s highest village

Komik_Village

हिमाचल प्रदेश में बहुत से सुरम्य और अद्भुत पर्टयक स्थान है, जो बेहद रोमांचित और खूबसूरत है, एक ऐसा ही जिला है, हिमाचल का लाहौल और स्पीति जो अपने आसपास के क्षेत्र में कई खजाने को समेटे हुए हैं, इसी जिले में स्तिथ है यह कोमिक गांव एक ऐसी जगह जो उत्तर भारत में हिमाचल प्रदेश राज्य में आश्चर्यजनक पहाड़ों के बीच में स्थापित एक खूबसूरत गांव है। कोमिक गाँव एशिया का सबसे ऊँचा गाँव है, इसकी ऊंचाई समुद्रतल से लगभग 18,000 फीट है। यह स्थान हिमाचल प्रदेश में स्तिथ लोकप्रिय पर्टयक स्थानों में से एक है, इस जगह की सुंदरता को शब्दों में वर्णित नहीं किया जा सकता है।

Komik_Village(2)

त्सेमो गोम्पा बौद्ध मठ के लिए जाना जाता है यह गांव, This village is known for Tsemo Gompa Buddhist Monastery

ऊँचे-ऊँचे पहाड़ों और राजसी घाटियों से घिरा हुआ यह गांव अनगिनत पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है, यहां की लुभावनी सुंदरता और यहां का वातावरण सैलानियों को बेहद रोमांचित करता है। इस गांव में बहुत से धार्मिक स्थान भी स्तिथ है, इस कोमिक गाँव में लुंडुप त्सेमो गोम्पा बौद्ध मठ के लिए प्रसिद्ध है। इस धार्मिक स्थान की यह मान्यता है, कि इस मठ में ‘माट्रे बुद्ध,’ या ‘भविष्य के बुद्ध’ हैं, जो कोमिक ग्राम के लोगों की भलाई की देखभाल करते हैं। यह मठ दुनिया में सबसे अधिक मोटर वाले बौद्ध मठ होने के लिए भी प्रसिद्ध है, हार बहुत से बाइकर्स द्वारा यहां की यात्रा की जाती है। दुनिया भर से उत्साही लोग यहां आते हैं।

Komik_Village(1)

एक ऐतिहासिक और लोकप्रिय गांव, A historical and popular village

इस गांव में स्तिथ 14 वीं शताब्दी के मठ में गढ़वाली दीवारों से बना एक किलेदार महल भी स्तिथ है, जो भित्ति युग से संबंधित भित्ति चित्रों, शास्त्रों और कलाओं का प्रतिनिधित्व करता है। मान्यता है, कि मठ बनने से पहले ही, तिब्बत में यह पहले ही बता दिया गया था कि स्पीति में एक पहाड़ी क्षेत्र में हिम मुर्गा की आकृति का एक मठ बनाया जाएगा और उस स्थान को कोमिक कहा जाता था, जहां ‘को’ का मतलब हिम मुर्गा होता है और ‘मिक’ का अर्थ है आंख।

Komik_Village(3)

कोमिक गांव का प्रसिद्ध मुखौटा नृत्य, Famous Mask Dance of Komik Village

कोमिक गांव एक बहुत ही शांत गांव है, यह ठंडा सुमसान गांव साल भर में कई त्योहारों की मेजबानी करता है, और वही पर्यटक इसका आनंद ले सकते हैं। यहां के निवासी बौद्ध धर्म को मान्यता देते है, और छम नृत्य या मुखौटा नृत्य इका एक लोकप्रिय नृत्य है, जो बेहद आकर्षित और खूबसूरत होता है। प्रकति प्रेमी और साहसिक प्रेमियों के लिए इस आश्चर्यजनक गाँव में जाने के अन्य साधन हैं। पर्टयक यहां बहुत से ट्रेक कर सकते हैं, कोमिक के बाहरी परिवेश में रोमांचकारी क्षणों का आनंद ले सकते हैं। और भी बहुत से रोमांचित कार्य किये जा सकते है।

Komik_Village(4)

सर्दियों के दौरान देश के बाकी हिस्सों से पूरी तरह से कट जाता है यह गांव, This village is completely cut off from the rest of the country during winter

यह गांव सर्दियों के दौरान भारी बर्फबारी के कारण देश के बाकी हिस्सों से पूरी तरह से कट जाता है, यहां केवल गर्मियों के समय में ही आया जा सकता हैं। इस गांव के स्थानीय निवासी सर्दियों के मौसम को पूरा करने के लिए पर्याप्त भोजन अपने घरो के अंदर संग्रहीत कर के रख लेते हैं। क्योंकि सर्दियों के समय यहां के लोग कई कई दिनों तक घर के अंदर कैद हो जाते है। ज्यादा बर्फ़बारी के कारण यहां के लोग कई महीनो तक घर के अंदर ही रहते है।

Komik_Village(5)

कोमिक गांव आने का सही समय, Best time to visit Komik Village

कोमिक में होमस्टे और होटल भी स्तिथ है, जहां पर्टयक रात्रि निवास कर सकते है, यहां बहुत से भोजननालय भी स्तिथ है, जहां स्थानीय लोगों द्वारा बड़े प्यार से भोजन परोसा जाता है। इस लोकप्रिय गांव में आने का सही समय मई से अक्टूबर तक गर्मियों के दौरान का सबसे अच्छा माना जाता है। इस बिच पर्टयक कभी भी यहां का दौरा कर सकते है।

Recommended For You

About the Author: Abhishek Pathania