प्रदेश में कोरोना वायरस के खौफ के चलते, चिकित्स्क ने मना कर दिया सर्जरी करने से

corona

हिमाचल प्रदेश में फैले कोरोना वायरस का खौफ इतना बढ़ गया गया है की कोरोनावायरस को जहां विश्वव्यापी महामारी घोषित कर दिया गया है, उसी के साथ हिमाचल के सबसे बड़े मातृ एवं शिशु अस्पताल केएनएच में मास्क ही नहीं उपलब्ध हैं।

जिस बजह से गुरुवार को भी मास्क न होने पर एक डॉक्टर ने महिला का ऑपरेशन करने से मना कर दिया। जिसके दौरान आनन-फानन में अस्पताल प्रबंधन ने दर्जी से सिलवाकर चार मास्क उपलब्ध करवाए।

मार्केट से सप्लाई न होने की बजह से कपड़े के मास्क किये जा रहे इस्तेमाल

जिसके बाद महिला का सिजेरियन किया गया और अस्पताल में 03 महिलाओं के ऑपरेशन होने थे। जिसके दौरान पहले चिकित्सक को टोपी का ही मास्क बनाने की नसीहत दी गई। इससे नाराज डॉक्टर ने ऑपरेशन करने से मना कर दिया। इसके बाद में अस्पताल प्रबंधन ने दर्जी से 04 मास्क सिलवाकर उपलब्ध करवाए, तब डॉक्टर ने ऑपरेशन किए।

इसी के साथ अस्पताल की वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ। अंबिका चौहान ने बताया कि अस्पताल में उपलब्ध स्टॉक जरूरत के हिसाब बांटा जा रहा है। मार्केट से सप्लाई न होने से कपड़े के मास्क बनाए जा रहे हैं।

देसी मास्क

देसी मास्क ज्यादा बेहतर माना जा रहा है, क्युकी इसी समय अपने हिसाब से और अपने साइज का सिल्वा सकते है। देश भर में फैले इस वायरस की बजह से मार्किट से सप्लाई नहीं आ रही है। जिस बजह से मास्क उपलब्ध नहीं हो पा रहे है।

Due to the fear of corona virus in the state, the doctors refused to perform surgery.

Recommended For You

About the Author: Abhishek Pathania