भारी बारिश, तेज तूफान एवं ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को हुआ भारी नुकसान

weather

जिला ऊना में बीते दिनों हुई भारी बारिश और तेज तूफान एवं ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को बहुत भारी नुकसान हुआ है। बुधवार शाम तक जिले में खराब मौसम की वजह से लगभग 5.70 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है, परन्तु गुरुवार को हुई भारी बारिश एवं तेज तूफान और ओलावृष्टि ने किसानों के नुकसान को और भी अधिक बढ़ा दिया है। कृषि विभाग के द्वारा नुकसान का हिसाब करने के लिए खंड स्तर पर काम कर रहा है। मौजूदा समय में जिला में सबसे अधिक गेहूं एवं आलू की फसल लगाई गई है।

गेहूं की फसल को 29000 Hectare क्षेत्र में लगाया गया है। लगभग 1450 Hectare क्षेत्र में गेहूं की फसल खराब मौसम की वजह से बर्बाद हो गई है। जिले में 744 Hectare क्षेत्र में लगाई गई आलू की फसल का 10% हिस्सा ओलावृष्टि की वजह से बर्बाद हो गया है। जिले के किसानों को करोड़ों रुपयों के नुकसान का सामना करना पड़ा।

लगभग 50 करोड़ रूपये तक हुआ नुकसान

किसानों राम कुमार, अजय, दया, प्यारा लाल, होशियार सिंह, दरवारा लाल, जगतार सिंह और करनैल सिंह ने जानकारी दी कि गुरुवार रात को हुई बहुत ज्यादा बारिश एवं ओलावृष्टि से किसानों को बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। बुधवार तक कृषि विभाग के आंकड़ों के मुताबिक खराब मौसम की वजह से गेहूं की फसल का 5.70 करोड़ का नुकसान हुआ है।

गुरुवार को हुई भारी बारिश की वजह से यह नुकसान 10 से 15 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। लगभग 15-20 करोड़ रुपये तक की हानि आलू की फसल को हुई है। इसके साथ ही सब्जियों की फसलों को लगभग 10 करोड़ का नुकसान हुआ है। कुल मिलाकर लगभग 50 करोड़ रूपये तक नुकसान हुआ है। किसानों ने सरकार से उचित मुआवजा देने की मांग की है।

बारिश के नुकसान का विभाग खंड स्तर पर किया जा रहा आकलन : डॉक्टर कपूर

कृषि उपनिदेशक डॉक्टर सुरेश कपूर ने बताया कि जिला में कृषि विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बुधवार तक 5.70 करोड़ रूपये का नुकसान गेहूं की फसल को हुआ है। गुरुवार को हुई भारी बारिश के नुकसान का विभाग खंड स्तर पर आकलन किया जा रहा है। सुरेश कपूर ने बताया कि गुरुवार की बारिश से जिले में गेहूं की फसल के साथ आलू की फसल एवं बेलदार सब्जियों को भी नुकसान हुआ है।

Recommended For You

About the Author: Indu Bala