हिमाचल प्रदेश में नकल रोकने भेष बदलकर परीक्षा केंद्र पहुंच गए एसडीएम, पकड़े 16 नकलची छात्र

edu

हिमाचल प्रदेश में स्कूल शिक्षा बोर्ड की वार्षिक परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए छेड़े गए अभियान में (SDM) जयसिंहपुर डॉ। विक्रम महाजन ने सोमवार को दो परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया और अचानक (SDM) कंधे पर झोला

टांगकर और हेलमेट पहनकर स्कूटर पर अकेले ही राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल मझेड़ा पहुंच गए और अचानक किये निरक्षण के दौरान छात्रों को नकल करते पकड़ा है। इस विद्यालय में (SOS) का भी परीक्षा केंद्र है।

भेष बदलकर केंद्र पहुंच गए (SDM)

प्रदेश में स्तिथ यह परीक्षा केंद्र सड़क मार्ग से करीब 200 मीटर की दूरी पर है, जिसके चलते उड़न दस्ते के पहुंचने से पहले ही इसकी सूचना केंद्र तक पहुंच जाती है। इसी लिए लिहाजा एसडीएम भेष बदलकर केंद्र पहुंच गए। जिस बजह से स्टाफ उन्हें नहीं पहचान पाया।

उन्हें परीक्षा केंद्र के बाहर रोकने की कोशिश की गई लेकिन वह कमरे में घुस गए व अपनी असली पहचान बताई, परीक्षा केंद्र में स्तिथ सभी शिक्षक हैरान हो गए उन के इस निरक्षण को लेकर।

16 परीक्षार्थियों के यूएमसी केस बनाए गए

इस परीक्षा केंद्र में लगभग 35 परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे थे। जब तलाशी शुरू हुई तो भरपूर मात्रा में छात्रों से पर्चियां प्राप्त की गयी 35 में से 16 परीक्षार्थियों के यूएमसी केस बनाए गए। (SDM) ने इस परीक्षा केंद्र को बंद करने की बोर्ड से सिफारिश की है। इससे पहले एसडीएम राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कोसरी में पेपर शुरू होने से पहले ही पहुंच गए।

वह यहां पेपर समाप्त होने तक डटे रहे। यहां नकल का कोई भी मामला नहीं पकड़ा गया। और अब इन्होने इस केंद्र में पहुंच के छात्रों को पकड़ा है। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा की छात्र पर्चियों से जैसे तैसे अपने पेपर तो उत्तीर्ण कर लेंगे मगर असल जिंदगी में कभी आगे नहीं बढ़ पाएंगे। इस लिए इस पर रोक लगाना भूइत जरूरी है।

In Himachal Pradesh, SDM reached the exam center in disguise to prevent copying, 16 students caught

Recommended For You

About the Author: Shalini Verma