ऊना सरकार की तरफ से नए खनन नियमों को क्रशर एवं Open sale lease holder मानने को तैयार नहीं

una s

ऊना सरकार की तरफ से जारी नए खनन नियमों को क्रशर एवं Open sale lease holder मानने को तैयार नहीं है। बुधवार को Rakkad Colony Una में 6 जिलों के क्रशर एवं Open sale lease holders ने बैठक करके खनन नियमों के खिलाफ चल रही हड़ताल को जारी रखने की Announcement की। Himachal Crushers Association Vice Chairman डिंपल ठाकुर की अध्यक्षता में हुई बैठक के उपरांत एक

संयुक्त संघर्ष समिति गठित करने का भी निर्णय लिया गया, यह संघर्ष समिति सरकार से क्रशर एवं Open sale lease holders को पेश आ रही problems से अवगत करवाएगी। क्रशर होल्डरों के द्वारा सरकार के निर्णय को गलत करार देते हुए कहा गया कि सरकार क्रशर उद्योग से गुनहेगारों जैसा व्यवहार कर रही है, जिसको सहन नहीं किया जाएगा। बैठक में कांगड़ा, चंबा, हमीरपुर, ऊना, सोलन एवं सिरमौर जिला के क्रशर एवं ओपन सेल लीज होल्डरों ने हिस्सा लिया।

Open sale lease holders नए खनन नियमों को लेकर 1 मार्च से हड़ताल पर

गौर रहे कि क्रशर एवं Open sale lease holders नए खनन नियमों को लेकर 1 मार्च से हड़ताल पर है। बैठक के उपरांत इस अनिश्चितकालीन हड़ताल को सरकार ने 25 फरवरी को जारी Office memorandum को वापस न लेने तक जारी रखने की

Announcement की। Vice Chairman of the Crusher Association डिंपल ठाकुर ने बताया कि संघर्ष समिति क्रशर एवं Open sale lease holders की मांगों एवं समस्याओं को लेकर शीघ्र ही सीएम जयराम ठाकुर, उद्योग मंत्री विक्रम ठाकुर एवं उद्योग विभाग के आला अधिकारियों के सामने उठाएगी।

जारी नए खनन नियम किसी भी काले कानून से कम नहीं

डिंपल ठाकुर ने बताया कि नई नीति में FIR दर्ज करने की बात की गई है। उन्होंने बताया कि हमें अपने कार्यों के साथ सामाजिक कार्य भी करने पड़ते हैं, जिसमें अब FIR की बात लिखी गई है, जिसे Crusher association बिलकुल सहन नहीं करेगा। डिपंल ठाकुर ने बताया कि सरकार ने हमारी कुछ मांगों पर ध्यान दिया है, परन्तु सबसे बड़ी मांग को नजरअंदाज किया गया है, जिस पर सरकार को सोचना चाहिए। डिपंल ठाकुर ने बताया कि सरकार की तरफ से जारी नए खनन नियम किसी भी काले कानून से कम नहीं है।

Recommended For You

About the Author: Indu Bala