माँ चिंतपूर्णी को जल्द ही केंद्र सरकार की तरफ से 45 करोड़ रूपये का मिलेगा ‘प्रसाद’

maa chint

जिला ऊना में शक्तिपीठ छिन्नमस्तिका धाम माँ चिंतपूर्णी को शीघ्र ही केंद्र सरकार की तरफ से 45 करोड़ रूपये का ‘प्रसाद’ मिलने वाला है। प्रदेश सरकार के द्वारा इस महत्वाकांक्षी परियोजना के लिए केंद्र सरकार को फिर से एक बार प्रस्ताव भेजा गया है।

सीएम जयराम ठाकुर ने बजट संभाषण में इस परियोजना का किया जिक्र

शुक्रवार को सीएम जयराम ठाकुर ने बजट संभाषण में इस परियोजना का जिक्र किया। जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा इसके लिए केंद्र को प्रस्ताव भेजा गया है। गौरतलब है केंद्र को प्रसाद योजना की पहले ही सैद्धांतिक मंजूरी मिल चुकी है। परन्तु भूमि इस योजना के कार्यान्वयन में भूमि अधिग्रहण का पेच फंसा हुआ है। जबकि जिला प्रशासन ने दुकानों के रूपन में खास तौर पर भूमि का अधिग्रहण कर लिया गया है।

चिंतपूर्णी मंदिर का Tirupati बाला जी मंदिर की तर्ज पर किया जाएगा विस्तारीकरण एवं सौंदर्यीयकरण

इस योजना के अंतर्गत चिंतपूर्णी मंदिर का Tirupati बाला जी मंदिर की तर्ज पर विस्तारीकरण एवं सौंदर्यीयकरण किया जाएगा। सीएम जयराम ठाकुर ने यह भी बताया कि केंद्र प्रायोजित Swadesh Darshan Himalayan Circuit के अंतर्गत 73 करोड़ की परियोजना का कार्यान्वयन किया जा रहा है। जबकि महत्वपूर्ण धार्मिक स्थानों पर बुनियादी ढांचा उन्नत करने के लिए भारत सरकार की सहायता से स्वदेश दर्शन परियोजना के अंतर्गत आध्यात्मिक सर्किट के विकास के लिए 100 करोड़ की परियोजना का प्रस्ताव रखा गया है। इस परियोजना का भी जिला को लाभ मिलने की काफी उम्मीद है।

प्रस्तावित बजट में चिंतपूर्णी समेत अन्य शक्तिपीठों में लघु संग्रहालय एवं कलाकेंद्र का लिया गया निर्णय

हिमाचल प्रदेश की सरकार ने इस साल के प्रस्तावित बजट में चिंतपूर्णी समेत प्रदेश में स्थित अन्य शक्तिपीठों में लघु संग्रहालय एवं कलाकेंद्र स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। जिससे की श्रद्धालु इन मंदिरों के इतिहास, धार्मिक आस्था एवं स्थानीय परंपराओं की झलक आसानी से ले सकेंगे।

Recommended For You

About the Author: Indu Bala